बुधवार, 25 नवंबर 2009

दुनिया में हर साल 12 लाख बच्चों की खरीद-फरोख्त होती है : यूनिसेफ


यूनिसेफ के अनुसार दुनिया भर में बच्चों के साथ व्यवहार में काफी सुधार हुआ है लेकिन बच्चों की खरीद-फरोख्त अब भी एक गंभीर समस्या है और हर साल 12 लाख बच्चों की खरीद-फरोख्त होती है।
संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) द्वारा बाल अधिकार सम्मेलन के 20 साल पूरे होने के अवसर पर प्रकाशित दुनिया के बच्चों की स्थिति के विशेष संस्करण में संयुक्त राष्ट्र की बाल अधिकार समिति के पूर्व अध्यक्ष अवा एन डे आउडरोगो ने कहा कि दुनिया भर बच्चों के साथ व्यवहार में व्यापक सुधार हुआ है लेकिन बाल अधिकारों के मामले में अब भी कई ऎसे क्षेत्र है जिनमें बहुत कुछ किया जाना है। इनमे एक महत्वपूर्ण मुद्दा बच्चों की खरीद-फरोख्त का है।
उनका कहना है कि हर साल 12 लाख बच्चों की खरीद-फरोख्त होती है। खरीद-फरोख्त करने वाले व्यक्तियों के जाल में एक बार फं सने के बाद बच्चों के साथ गंभीर रूप से दुव्र्यवहार तथा शोषण किया जाता है और उनके मौलिक अधिकारों का उल्लंघन होता है। उनको कानूनी सुरक्षा नहीं मिल पाती और वे अपने परिवारों से अलग-थलग हो जाते है। उनको बलपूर्वक विवाह, वेश्यावृत्ति, श्रम अथवा सशस्त्र युद्ध में शामिल होने के लिए मजबूर किया जाता है।

11 टिप्‍पणियां:

  1. अच्छी रचना। बधाई। ब्लॉगजगत में स्वागत।

    उत्तर देंहटाएं
  2. Dipti Ji,
    Hindi blog jagat men apka svagat hai.jan kar khushee huyee ki ap bachchon ke hit men kam kar rahee hain.mera blog bhee duniya ke bachchon ke hit men ek chhota sa prayas hai.ap blog par aiye apakaa svagat hai.
    HemantKumarr

    उत्तर देंहटाएं
  3. हिंदी चिट्ठाकारी की सरस और रहस्यमई दुनिया में आपके इस सुन्दर चिट्ठे का स्वागत है . चिट्ठे की सार्थकता को बनाये रखें . अगर समुदायिक चिट्ठाकारी में रूचि हो तो यहाँ पधारें http://www.janokti.blogspot.com . और पसंद आये तो हमारे समुदायिक चिट्ठे से जुड़ने के लिए मेलकरें janokti@gmail.com

    उत्तर देंहटाएं
  4. ये दुखद है कि इस तरह आदमी गिर गया है कि वो बच्चों को भी नहीं बख्श रहा है

    उत्तर देंहटाएं
  5. हिंदी ब्लाग लेखन के लिए स्वागत और बधाई
    कृपया अन्य ब्लॉगों को भी पढें और अपनी टिप्पणियां दें

    कृपया वर्ड-वेरिफिकेशन हटा लीजिये
    वर्ड वेरीफिकेशन हटाने के लिए:
    डैशबोर्ड>सेटिंग्स>कमेन्टस>Show word verification for comments?>
    इसमें ’नो’ का विकल्प चुन लें..बस हो गया..कितना सरल है न हटाना
    और उतना ही मुश्किल-इसे भरना!! यकीन मानिये

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत ही सुंदर रचना है। ब्लाग जगत में द्वीपांतर परिवार आपका स्वागत करता है।
    pls visit....
    www.dweepanter.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  7. bahut achha likha hai aapne...
    Meri Nai Kavita padne ke liye jaroor aaye..
    aapke comments ke intzaar mein...

    A Silent Silence : Khaamosh si ik Pyaas

    उत्तर देंहटाएं
  8. http:/इस ब्लॉग पर लड़के लडकियों के अनुपात में आते अंतर को रेखांकित करती कहानिया ,लेख ,समाचार ,या सुझाव ,चित्र आदि आमंत्रित है ब्लॉग में सहयोगी की भूमिका में भी आपका स्वागत है जिसके लिए टिपण्णी में जाकर अपनी प्रतिक्रिया के साथ अपना इ मेल आई दी भी छोड़े इस यज्ञ में आपके सहयोग रूपी आहुतियां अति आवश्यक हैं मलकीत सिंह जीत/ekprayasbetiyanbachaneka.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं